हेयर केयर


बालों में समस्या के कारण

बालों के हल्के से लेकर सिर के पूरी तरह गंजा होने तक का हो सकता है। यह भी देखा जा सकता है कि बाल पतले होने लगते है और एक या अधिक जगह पर गंजापन आ जाता है। बाल गिरने के कई अलग-अलग कारण होते है। चिकित्सा विज्ञान के आधार पर बालों का झड़ना कई प्रकार के हो सकते हैं:

  • लंबी बीमारी, बड़ी शल्य क्रिया अथवा गंभीर संक्रमण जैसे बड़े शारीरिक तनाव से दो या तीन महीने के बाद बालों का झड़ना एक सामान्य प्रक्रिया है। हार्मोन स्तर में आकस्मिक बदलाव के बाद भी यह हो सकता है, विशेषकर स्त्रियों में शिशु को जन्म देने के बाद यह हो सकता है। साधारण तरीके से बाल झड़ते रहते हैं किन्तु गंजापन दिखाई नहीं देता है।
  • औषध के गौण प्रभावः बालों का झड़ना कुछेक औषधियों के खाने के कारण हो सकता है और यह अचानक पूरे सिर पर प्रभावी हो सकता है।
  • चिकित्सकीय बीमारी के लक्षणः बालों का झड़ना चिकित्सा बीमारी का लक्षण हो सकता है जैसे कि अवटुग्रंथि (थाइरॉयड) विकृति, सेक्स हार्मोन में असंतुलन या गंभीर पोषाहार समस्या विशेषकर प्रोटीन, लौह, जस्ता या बायोटीन की कमी। यह कमी खान-पान में परहेज करने वालों और जिन महिलाओं को मासिक धर्म में बहुत ज्यादा रक्त स्राव होता है उनमें यह आम है।
  • सिर की त्वचा (खोपड़ी)- इसमें फफूंद-खोपड़ी में जब विशेष प्रकार की फफूंद से संक्रमण हो जाता है तो बीच बीच में बाल झड़ने लगते हैं। बच्चों में आमतौर पर बीच-बीच के बाल झड़ने का संक्रमण पाया जाता है।

बालों की समस्याऐं

अलोपेसिया

एलोपेशीया एरेटा बाल झड़ने की एक बीमारी है लेकिन यह बाल झड़ने के सामान्य तरीके से एकदम अलग है। इस बीमारी में व्यक्ति के सिर में जगह-जगह बाल जड़ से उखड़ जाते हैं और खाली जगह एकदम सपाट और पैच की तरह दिखायी देता है। लगभग पूरे सिर में जगह-जगह ऐसे पैचेज देखने को मिलते हैं। हालांकि कुछ दिनों बाद इन खाली पैचेज में हल्के बाल उग आते हैं।

रुसी (डैंड्रफ)

सही देखभाल के अभाव में बालों में कई समस्‍याएं हो सकती हैं। बालों में डैंड्रफ या रूसी भी उनमें से एक है। जो सिर की त्‍वचा में स्थित मृत कोशिकाओं के कारण पैदा होती है।  होने से बाल बेजान हो जाते है, गिरने लगते हैं और सिर में खुजली भी रहती है।


असमय सफ़ेद बाल होना

सिर के बाल 25 साल के उम्र से पहले सफ़ेद होने शुरू हो जाएँ, तो इसे “असामयिक (premature)” यानी समय से पहले बालों का सफ़ेद होना कहते हैं। समय के साथ हमारी उम्र भी बढ़ती रहती है। नतीजन हमारे शरीर की हर एक भाग बूढ़ी होती जाती है। ठीक इसी तरह हमारे काले बाल भी बूढ़े होकर सफ़ेद बाल मे परिवर्तित होने लगते हैं।


बालों का झड़ना

बाल झड़ना आज एक तेजी से फैलने वाली बीमारी बन चुका है. झड़ते हुए बालों से निजात पाने के लिए कई लोग शैम्पू बदलना काफी समझते हैं. उपरी तौर हो सकता है कि कुछ राहत मिल जाए लेकिन अंदरूनी तौर पर बाल झड़ने के कई कारण हो सकते हैं. उचित पोषण का न मिलना, बालों में किसी प्रकार का संक्रमण या कई बार अनुवांशिक कारण भी हो सकते हैं


बालों का इलाज

लेज़र थेरेपी

एक्यूपंक्चर

ओज़ोन थेरेपी

स्टीम थेरेपी

हर्बल थेरेपी

7 स्टार थेरेपी

Close Menu